बजट 2021 : युवाओं को बजट में क्या मिला, मिलेगा रोजगार या अभी होगा अच्छे दिन का इन्तेजार

 बजट 2021 : युवाओं को बजट में क्या मिला, मिलेगा रोजगार या अभी होगा अच्छे दिन का इन्तेजार

नेशनल डेस्क, रायपुर| भाजपा के हर नेता, प्रवक्ता, कार्यकर्ता सुबह से ही अर्थशास्त्री की भूमिका में है जोकि इस साल के बजट को भी मोदी जी मास्टर स्ट्रोक बतला रहे हैं, वहीँ विपक्ष की बात करें तो वो हमेशा की तरह रूठे हुए फूफा की भूमिका निभा रही है, जिसे न कभी लड्डू पसंद आया और न ही सरकार का बजट, यहाँ तक की निर्मला सीतारमण के बजट भाषण को चुनावी जूमला तक ठहरा दिया, इस बीच तोपचंद ने भी इस साल से बजट पर मोटे मोटे बिंदु आप सभी के साथ आसान भाषा में साझा किया और इसमें सबसे अहम वर्ग है युवाओं का तो आइए जानते हैं, युवाओं को बजट में क्या मिला? मिलेगा रोजगार या अभी होगा अच्छे दिन का इन्तेजार

Header Ad

ईज ऑफ़ डूइंग बिसनेस को मिलेगा बढ़ावा

आज के समय में भारत में युवाओं के बीच स्टार्टअप्स का अच्छा क्रेज देखने को मिलता है , स्टार्ट अप्स को शुरू करने में लगने वाली सरकारी पप्रणाली अब आसान हो सकती है , इसी के साथ बिसनेस लोन लेने में भी सहूलियत मिलेगी ।

युवाओं को 1.5 लाख सरकारी नौकरी का वादा

युवाओं के लिए डायरेक्ट भारती में 1.5 लाख सरकारी नौकरियों का वादा किया गया है हालांकि ये आकड़ा बेहद कम है लेकिन सरकार ने रोजगार से जुड़े दुसरे विकल्पों पर भी जोर दिख रहा है ।

टैक्सटाइल सेक्टर में निवेश के बाद युवाओं को नौकरी के अवसर मिलेंगे
टेक्सटाइल सेक्टर में निवेश के बढ़ने से युवाओं को रुजगार के लिए अनेक अवसर मिलेंगे , फैशन डिजाईनिंग से जुड़े विद्यार्थियों को सरकार ने सुनहरा मौका दिया है ।

निर्यात से जुडी 7,400 परियोजनाओं की शुरुआत होगी
भारत में एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट क्षेत्र में बड़ा अंतर दीखता है , देश में इम्पोर्ट , एक्सपोर्ट से मुकाबले कही ज्यादा है एक्सपोर्ट की 7400 नई परियोजनाओं के खुलने से बड़ी मात्र में रोजगार के अवसर पैदा होंगे ।

मेडिकल सेक्टर में नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं की भारी संख्या में भर्तियां होंगी

सरकार ने बजट में स्वास्थ्य क्षेत्र में 137 प्रतिशत की वृद्धि का एलान किया जिसमे मुख्य रूप से नए मेडिकल संस्थान , मोबाइल अस्पताल जैसे संस्थाओं का संचालन किया जाएगा । जिससे डायरेक्ट रोजगार पैदा होंगे ।

इंजीनियरों के लिए स्थानीय निकायों में सालभर की इंटर्नशिप
देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी के क्षेत्रों में सबसे आगे इंजीनियरिंग के छात्र होते है जिसका करण मुख्य रूप से प्रैक्टिकल नॉलेज की कमी होना होता है , अब स्थानीय निकाय में इन्तेर्शिप से छात्रों को नई स्किल डेवेलोप करने का मौका मिलेगा अथ्वा रोजगार अवसर प्राप्त होंगे ।

विदेशों में नौकरी के लिए ब्रिज कोर्स

ब्रिज कोर्स प्रारंभिक पाठ्यक्रम होता है जो दुनिया भर में विभिन्न विश्वविद्यालयों द्वारा तैयार किया गया हैं। यह कोर्स छात्रों को अपने वर्तमान कोर्स के साथ अगले कोर्स से जोड़ता है जिसकी शुरुआत अब भारत में भी हो रही है इससे विदेशों में नौकरियों के अवसर बढ़ेंगे ।

Header Ad

Badal Singh Thakur

Related post

Open chat
Join Us On WhatsApp