बेवड़ों में नहीं दिख रहा कोरोना का खौफ

 बेवड़ों में नहीं दिख रहा कोरोना का खौफ

रायपुर, तोपचंद। राजधानी में कल यानी 09 अप्रैल से शुरू हो रहे लॉकडाउन को देखते हुए बाजारों में जितनी भीड़ दिखाई दी, उससे कहीं ज्यादा शराब की दुकानों पर सुरा प्रेमी पहुंच गए। भीड़ देखकर कोई नहीं कह सकता था कि उन्हें कोरोना का जरा भी भय है। शारीरिक दूरी की बात तो बहुत दूर की बात रही, लोग मास्क तक नहीं लगाए थे। रायपुर की सिलतरा स्थित शराब दुकान में तो पैर रखने तक की जगह नहीं थी। लोग एक के ऊपर एक खड़े थे।

Header Ad

कुछ दिन पहले तोपचंद की खबर को आबकारी विभाग ने संज्ञान में लेते हुए शारीरिक दूरी का पालन करते हुए शराब लेने और बेचने के लिए निर्देश दिए थे। आबकारी विभाग ने फंड रिलीज करते हुए मास्क और सेनिटाइजर का इंतजाम और इस्तेमाल करने भी कहा था। इसके अलावा टीम गठित कर नियमित रूप से निर्देशों का पालन हो रहा कि नहीं, इस पर नजर रखने कहा था। लेकिन तमाम निर्देशों का पालन सिलतरा भट्टी में देखने को नहीं मिल रहा है।

प्रशासन ने राजधानी में लोगों को कोरोना संक्रमण से बचने और उसकी चैन को तोड़ने के लिए लॉकडाउन की घोषणा की है, लेकिन लोग अपनी लापरवाही से कोरोना संक्रमण को बढ़ावा देने का काम कर रहे हैं। बता दें कि दस दिन के लॉकडाउन के दौरान शराब की दुकानें भी बंद रहेंगी। ऐसी स्थिति में सुरा प्रेमी किसी तरह दस दिन का स्टॉक करने की जुगाड़ करना चाहते हैं। यही कारण है कि शराब दुकानों पर आज भारी भीड़ जुट गई।

Header Ad

Shrikant Baghmare

Related post

Open chat
Join Us On WhatsApp