“ऑपरेशन संगम” में सुरक्षा बालों को बड़ी कामयाबी, 7 माओवादी कैम्प ध्वस्त

  “ऑपरेशन संगम” में सुरक्षा बालों को बड़ी कामयाबी, 7 माओवादी कैम्प ध्वस्त

तोपचंद रायपुर।  विगत दिनों छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र के सीमावर्ती जिला नारायणपुर-कांकेर एवं गढ़चिरौली के सरहदी क्षेत्र में नक्सलियों की उपस्थिति की आसूचना पर जिला नारायणपुर डीआरजी एवं कांकेर डीआरजी,  एसटीएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी की संयुक्त अभियान के तहत अलग-अलग टीम सर्चिंग पर रवाना की गई थी।

Header Ad

सर्चिंग के दौरान ग्राम बरमटोला, कुदुलपाड़, कुम्मचलमेटा,  टेकमेटा और कुकुर गांव  के जंगल-पहाड़ी में माओवादियों के कैम्प दिखाई देने पर चारो तरफ से घेराबंदी कर आगे बढ़ रहे थे कि माओवादियों ने पुलिस पार्टी को जान से मारने व हथियार लूटने के नीयत से फायरिंग शुर कर दी।

इस दौरान पुलिस पार्टी को अपने ओर आते देख माओवादि अपना डेरा छोड़कर जंगल पहाड़ी का फायदा उठाकर भागने लगे।

 

माओवादि डेरा की सर्चिंग के दौरान कैम्प से विस्फोटक पदार्थ, टिफिन बम, पाईप बम, वायर, नक्सली वर्दी, दवाईयां, नक्सली साहित्य, बैनर, पोस्टर, पिट्ठू, प्रशिक्षण सामान, बर्तन एवं अन्य कैम्प व दैनिक उपयोगी भारी मात्रा में सामग्री बरामद की गई तथा मौके पर माओवादी की 07 कैम्प को ध्वस्त किया गया।

 

पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में कुछ माओवादियों के मारे जाने और घायल होने की संभावना है। माओवादियों के संभावित जगह पर सुरक्षाबलों द्वारा सर्चिंग की जा रही है।

Header Ad

Related post

Open chat
Join Us On WhatsApp