चाकू की नोक पर ‘मोर रायपुर’

 चाकू की नोक पर ‘मोर रायपुर’

स्पेशल डेस्क, तोपचंद। प्रदेश की राजधानी में शनिवार रात फिर दो युवकों पर चाकू से हमला हुआ है।

Header Ad

टिकरापारा थाना प्रभारी संजीव मिश्रा ने बताया कि चाकूबाजी की घटना का शिकार गुलशन साहू और नारायण साहू हुए है। दोनों युवक भाई है, और कल रात हल्का तालाब के पास गए हुए थे। इस दौरान ललित जलक्षत्री नाम के बदमाश ने उनसे विवाद करते हुए चाकू से हमला बोल दिया।

Header Ad

इस घटना में एक को जांघ पर दूसरे को पेट पर चोटें आई है। प्राथमिक उपचार के बाद दोनों भाई घर में आराम कर रहे हैं, जबकि आरोपी को पुलिस हिरासत में लिया गया है।

हाल के दिनों में रायपुर में चाकूबाजी की घटनाएं काफी बढ़ गई हैं। इन घटनाओ को हमने दूसरे एंगल से देखने की कोशिश की, पेश है ये रिपोर्ट।

इसी महीने 16 जनवरी की रात खमतराई थाना के सन्यासी नगर में एक युवक की चाकू मार कर हत्या कर दी गई, इसी रात डीडी नगर इलाके में एक युवक को बेरहमी से चाकू मार कर घायल कर दिया गया। रायपुर शहर में क्राइम की ख़बरों को कवर करने वाले पत्रकार तहसीन जैदी बताते हैं कि बीते दो महीने दिसंबर और जनवरी में करीब 24 चाकूबाजी के प्रकरण सामने आये है। इनमें 2 लोगों की जानें गई है।

पिछले साल 1 दिसंबर को रायपुर के बोरियाखुर्द इलाके में एक नाबालिग की चाकू से गोद कर हत्या कर दी गई थी। इस हत्या का विडियो आरोपी के भाई ने बनाया था जो सोशल मीडिया में खूब तैरा था। विडियो के वायरल होने के बाद शहर में सनसनी फ़ैल गई थी। हालांकि आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया था और इसके बाद रायपुर पुलिस ने चाकू रखने वालों पर शिकंजा भी कसा था। लेकिन इस पर अंकुश लगाने में पुलिस नाकाम रही नतीजा यह रहा कि फिर सरेआम चाकूबाजी की घटनाएँ हो रही है।

ख़बरों की भीड़ में ऐसी घटनाओं की गुमनाम मौत लाज़मी थी। लेकिन आपने कभी गौर किया है की इन गुमनाम सी घटनाओं की फ्रीक्वेंसी काफी आम हो चली है। पिछले साल दिसंबर में रायपुर पुलिस इसे रोकने के लिए गंभीर जरुर हुई थी। लेकिन साल गुजरने के बाद पुलिस ने इसे रोकने के लिए जो कदम उठाये थे, वो वहीं थम गए। नतीजतन एक बार फिर शहर में चाकूबाजी की घटना बढ़ गई है। आंकड़े के लिहाज से 2019 में चाकूबाजी के 310 प्रकरण दर्ज किये गए थे। जबकि साल 2020 में यह घट कर 241 हो गई, इसका कुछ श्रेय तो कोरोना को भी जाता है।

रायपुर में लगातार हो रही चाकूबाजी की घटना को लेकर तोपचंद डॉट कॉम ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव कहते हैं पिछले एक दो महीने में एक से दो घटनाएँ हुई है। 23 चाकूबाजी की घटना मेरे जानकारी में नहीं है, आप डिटेल दे दीजिए मैं थानों से जानकारी मांग लेता हूँ। दिसंबर में चाकूबाजो पर हुई कार्रवाई के संबंध में अजय यादव ने कहा संख्या नहीं बता पाउँगा लेकिन भारी तादाद में हमने मुहीम चला कर कार्रवाई की थी, मैं आंकड़े उपलब्ध करवाता हूँ।

SSP अजय यादव ने लगातार हो रही घटनाओं से इनकार करते हुए यह साफ़ किया कि कोई अगर जान से मारने के उद्देश्य से हमला कर रहा है तो वह चाकूबाजी की श्रेणी में नहीं आता है, अजय यादव ने डीडी नगर में रविवार को हुई घटना का उदहारण देते हुए बताया कि अगर कोई चाकू मारकर भाग रहा है और वह जख्मी है या यदि कोई हमले में मार जाता है तो वह चाकूबाजी की घटना में आता है। मेरी जानकारी के अनुसार पिछले महीने और इस महीने में 4 से 5 घटनाएँ हुई है, हम लगातार कार्रवाई कर रहे हैं।

 

 

 

रायपुर के मनोवैज्ञानिक डॉ. अशफ़ाक़ हुसैन का मानना है कि युवाओं में बढ़ती नशे की लत, सोशल मीडिया का नकारात्मक प्रभाव और समाज के नैतिक मूल्यों में गिरावट चाकूबाजी जैसी अपराधिक घटनाओं को बढ़ा रही हैं।

“कामकाजी माता-पिता के इस दौर में बच्चों की मोनिटरिंग ठीक से नहीं हो पाती। अभी ड्रग्स खास कर वीड (गांजा) का चलन काफी बढ़ गया है। मेरे पास MBBS और इंजीनियरिंग के बच्चे भी वीड की समस्या ले कर आते हैं। वीड और ड्रग्स बच्चों की निर्णय लेने की क्षमता कम कर देता है,”- डॉ अशफ़ाक़ हुसैन

डॉ. अशफ़ाक़ के अनुसार सोशल मीडिया का भी बहुत प्रभाव पड़ा रहा है। इसी वजह से लोगों की सहनशीलता (tolerance) का लेवल भी काफी कम हो गया है, अग्रेशन बढ़ा है। आजकल लोगों की खुदसे और दूसरों से उम्मीदें काफी बढ़ी गई है और ऐसे में जब उम्मीदें पूरी नही होती तो फ्रस्टेशन होता है।

डॉ. अशफ़ाक़ आगे कहते हैं कि ऐसी समस्या से निपटने के लिए फॅमिली को बच्चों कि  मोनिटरिंग करना चाहिए। बच्चे कौन सी साईट का इस्तेमाल कर रहे हैं, उनको दिया गए पैसों को कहाँ खर्च कर रहे हैं, उसके पियर्स कौन हैं, कहाँ घूमते है, कहीं वो ड्रग के आदि तो नहीं ले रहे हैं। पेरेंट्स को उनके सामान को बीच बीच में थोडा चेक करना चाहिए कि सिगरेट या वीड तो बच्चे यूज़ नहीं कर रहे। सामान के महक से भी पता चल जाता है।

Header Ad

Shrikant Baghmare

Related post

Open chat
Join Us On WhatsApp