विधान सभा: गोधन न्याय योजना पर सदन में बवाल, कृषि मंत्री के जवाब से असंतुष्ट बीजेपी ने किया वाक आउट  

 विधान सभा: गोधन न्याय योजना पर सदन में बवाल, कृषि मंत्री के जवाब से असंतुष्ट बीजेपी ने किया वाक आउट  

तोपचंद रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा बजट सत्र के दौरान आज गोधन न्याय योजना पर पक्ष-विपक्ष के बीच जम कर बहस हुई। इस मुद्दे पर बीजेपी के विधायक शिवरतन शर्मा ने सवाल लगाया था, जिस पर कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने प्रश्न काल के दौरान जवाब दिया। मंत्री चौबे के जवाब से असंतुष्ट बीजेपी विधायकों ने सदन से वाक आउट कर दिया।

Header Ad

शिवरतन शर्मा ने अपने सवाल में पूछा था कि गोधन न्याय योजना के तहत किस किस जिले में कितनी खरीदी हुई? योजना का भुगतान किस मद की राशि से किया गया? गोबर कौन खरीद रहा है, उनकी न्युक्ति का आधार क्या है?

इस पर कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा जिलेवार आंकड़ें अलग से उपलब्ध करा दूंगा। मद के ऊपर विधान सभा में पहले भी काफी चर्चा हो चुकी है।

गोबर कौन खरीद रहा है पर मंत्री ने कहा- पंचायती राज अधिनियम के तहत गौठान पंचायतों कि प्रॉपर्टी है, जहाँ खरीदी हो रही है।

शिवरतन शर्मा ने फिर पूछा कि इस योजना में किस किस मद से पेमेंट किया गया?

शर्मा ने आगे कहा कि पंचायतों के उपर दबाव डलवा कर 14वें और 15वें वित्त के पैसों से पेमेंट करवा रहा हैं, 14वें और 15वें वित्त का पैसा पंचायतों के विकास के लिए होता है।

शिवरतन ने आगे कहा कि सीएम साहब ने चर्चा के दौरान बताया था कि अभी राज्य में 40 लाख मीट्रिक टन गोबर रखा। शिवरतन ने पूछा उसे कैसे सेफ रखेंगे और उसके मूलयांकन का आधार क्या होगा?

कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि प्रदेश में 6 हजार 200 से ज्यादा गौठान निर्मित हैं। इन गौठानों के वर्मी टांकों में गोबर सुरक्षित है।

बीजेपी विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा- मंत्री जवाब देने से बच रहे हैं।

बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर ने पूछा कि- कितनी राशि गोधन न्याय योजना मद में रखी गई है?

कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे सदन में जवाब नहीं दे पाए।

मंत्री के जवाब से असंतुष्ट बीजेपी विधायकों ने सदन से किया वाकआउट

.

 

 

 

 

 

Header Ad

Harish Jangde

http://topchand.com

Related post

Open chat
Join Us On WhatsApp