वेतन कटौती पर पुलिस आरक्षक के बाद स्वास्थ्य कर्मी हुए नाराज, कहा – विशेष भत्ता तो मिला नहीं, उलटे वेतन काट रही सरकार, मुख्यमंत्री का वीडियो किया वायरल

 वेतन कटौती पर पुलिस आरक्षक के बाद स्वास्थ्य कर्मी हुए नाराज, कहा – विशेष भत्ता तो मिला नहीं, उलटे वेतन काट रही सरकार, मुख्यमंत्री का वीडियो किया वायरल
[responsivevoice_button voice="Hindi Female"]

तोपचंद, रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार ने कोरोना महामारी से निकलने के लिए सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों के एक दिन का वेतन काटने की घोषणा की थी। इसे लेकर धमतरी जिले में एक पुलिस आरक्षक ने आपत्ति जताई थी। इसके बाद स्वास्थ्य कर्मी सरकार के इस कदम से नाराज हो गए हैं।

Header Ad

स्वास्थ्य कर्मियों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर अपनी नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने कहा है कि आपकी मंशा के विरुद्ध साफ्टवेयर बनाकर कर्मचारियों का एक दिन का वेतन जबरन काटा जा रहा है| इससे कर्मचारियों के सहमति पत्र का कोई औचित्य नहीं रह गया है। बिना सहमति पत्र भराए कई जगह वेतन काट दिया गया है। इससे स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों में घोर निराशा एवं असंतोष है।

स्वास्थ्य कर्मियों ने कहा है कि 13 माह से कोविड-19 के दौरान अपनी जान को जोखिम में डालकर स्वास्थ्य कर्मचारी अपने कर्तव्य का निर्वहन कर रहे है| इस दौरान सैकड़ों कर्मचारी अपनी जान भी गंवा चुके हैं| माननीय महोदय जी स्वास्थ्य कर्मचारी आपके घोषणा अनुरूप विशेष भत्ता दिये जाने का इंतजार कर रहे हैं| स्वास्थ्य कर्मचारियों को मुख्यमंत्री पर विश्वास है कि आप स्वास्थ्य कर्मचारियों का वेतन कभी नहीं कटवायेंगे।

उलटा गलत साफ्टवेयर बनाकर जबरिया वेतन काटने वाले अधिकारियों को निलंबित करेंगे| क्योंकि इनके द्वारा कांग्रेस सरकार की छवि खराब की जा रही है जो कि घोर निंदनीय है।

Header Ad

Shrikant Baghmare

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
Join Us On WhatsApp