छत्तीसगढ़ का पारंपरिक व्यंजन – गुलगुला भजिया

 छत्तीसगढ़ का पारंपरिक व्यंजन – गुलगुला भजिया

गुलगुला भजिया – छत्तीसगढ़ में त्यौहारों और खास उत्सवों में बनाए जाने वाले गुलगुला भजिया को घर में आसान और कम सामाग्रियों के साथ बनाया जाता है। यह खाने में स्वादिष्ट होने के साथ सेहत के लिए भी अच्छा होता है। गांवो में मेले और हाट- बाजार में भी यह बिकता है। यह छत्तीसगढ़ का पारंपरिक व्यंजन है।

Header Ad

आवश्यक सामग्री

 

गेहूं का आटा – 1 कप
चीनी या गुड़ – ¼ कप
तेल – गुलगुले तलने के लिये

विधि

एक पैन में चीनी या गुड़ और 1/2 कप पानी डालकर इसे पका लीजिए। इस पानी में आटे को डालकर घोल तैयार कर लीजिए। घोल को गुठलियां खत्म होने तक फैंट लीजिए। इस घोल की कन्सिस्टेन्सी पकौड़े के घोल जैसी होनी चाहिए, चमचे से गिराने पर लगातार गिरना चाहिए। घोल को 10 मिनिट के लिये ढककर रखिये।

इस घोल को थोड़ा और फैंट लीजिये। साथ ही कढ़ाही में तेल डालकर गरम होने रख दीजिए। घोल की 1 बूंद तेल में डालकर चैक कीजिए कि तेल पर्याप्त गरम हुआ या नही। यह तुरंत सिककर ऊपर आनी चाहिए। अब गुलगुले को हाथ या चमचे से गरम तेल में डालिये। 5-6 या जितने पुआ तेल में अच्छी तरह आ सकें डाल दीजिये। जैसे ही गुलगुले नीचे से सिकते जाएं, इन्हें पलट दीजिए। गुलगुले को मध्यम आंच पर लाल होने तक तलकर निकाल लीजिये।

Header Ad

Shrikant Baghmare

Related post

Open chat
Join Us On WhatsApp