धान खरीदी केंद्र में किसान की मौत पर डॉ. रमन सिंह ने पूछा सवाल, कहा – कौन है जिम्मेदार

 धान खरीदी केंद्र में किसान की मौत पर डॉ. रमन सिंह ने पूछा सवाल, कहा – कौन है जिम्मेदार

तोपचंद, रायपुर। राजनांदगांव के ग्राम धुमका (dhumka village) के धान खरीदी केंद्र में किसान की हार्ट अटैक से मौत (former dead) के मामले में छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री ( ex – chief minister of Chhattisgarh) डॉ. रमन सिंह (dr. Raman singh) ने प्रदेश सरकार (Chhattisgarh Government) के उपर गंभीर आरोप लगाये हैं।

Header Ad

 

Header Ad

धान ख़रीदी केंद्र में किसान की मौत, 23 कट्टा धान खराब बताकर तौलने से किया था इनकार.. 500 रुपए मांगे आया हार्ट अटैक

डॉ. रमन का कहना है कि भूपेश सरकार (Bhupesh Government) मृतक किसानों को पागल, नशेड़ी बताकर जिम्मदारी से भाग जाती है। जबकि सरकार की वादाखिलाफी, भ्रष्टाचार, कमिश्नरखोरी, अराजक सिस्टम किसानों की जान लेने पर उतारू है। हर दिन किसानों की मौत की खबर आती है, और @bhupeshbaghel सरकार उन्हें पागल, नशेड़ी बताकर जिम्मदारी से भाग जाती है। राजनांदगांव के इस किसान की मौत का जिम्मेदार कौन है?

डॉ. रमन ने इसके एक दिन पहले राजनांदगांव के डोंगरगांव ब्लॉक के आसरा गांव में किसान मुलचंद के आत्महत्या मामले में कहा था कि प्रदेश के अनेकों जिले से किसानों के आत्महत्या की खबर आ रही है, किसान कर्ज से परेशान है सरकार ने अभी न्याय योजना की चौथी क़िस्त नहीं दी है, सरकार की गलत नीतियों की वजह से किसान आत्महत्या कर रहे हैं। बताते चलें कि किसान मूलचंद ने 5000 हजार के कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या कर ली थी, हालांकि कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने कर्ज की वजह से किसान की आत्महत्या से इनकार किया था।

Header Ad

Shrikant Baghmare

Related post

Open chat
Join Us On WhatsApp