देशमुख को नहीं मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, सीबीआई जारी रखेगी वसूली की जांच

 देशमुख को नहीं मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, सीबीआई जारी रखेगी वसूली की जांच

नेशनल डेस्क, तोपचंद। महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख की मुश्किलें बढती दिख रही हैं। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को बॉम्बे हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ दायर की गई याचिका पर सुनवाई करते हुए सीबीआई जांच को जारी रखने का आदेश दिया है।

Header Ad

महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर लगे सौ करोड़ की वसूली के आरोपों की जांच सीबीआई जारी रखेगी। बॉम्बे हाई कोर्ट द्वारा देशमुख के खिलाफ सीबीआई जांच के आदेश दिए गए थे। बॉम्बे हाई कोर्ट के आदेश को देशमुख के साथ ही महाराष्ट्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। सुप्रीम कोर्ट ने गुस्र्वार को याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि पूर्व गृहमंत्री पर लगे आरोप संगीन हैं। मामले में गृहमंत्री और पूर्व कमिश्नर जुड़े हुए है। इस मामले से पहले दोनों ने करीब से काम किया है। ऐसे में सीबीआई जांच जरूरी है। दरअसल मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ 100 करोड़ रुपए की वसूली का आरोप लगाया था।

एंटीलिया केस से हुई थी शुरुआत..

25 फरवरी को मुंबई स्थित अंबानी आवास के पास विस्फोटक पदार्थ से भरी स्कार्पियो पकड़ी गई थी। लम्बी जांच के बाद मुंबई पुलिस के सब-इंस्पेक्टर सचिन वझे का नाम इसमें सामने आया। इसके बाद मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह का लापरवाही के आरोप में तबादला कर दिया गया था। इसके बाद परमबीर सिंह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर गृहमंत्री पर बार और रेस्त्रां से 100 करोड़ स्र्पये की वसूली के लिए दबाव बनाने की शिकायत की गई। कोई कार्रवाई न होने पर परमबीर ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने परमबीर सिंह को बॉम्बे हाई कोर्ट जाने का सुझाव दिया। इसके बाद उन्होंने अनिल देखमुख के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट में अपील की। बॉम्बे हाई कोर्ट ने आरोपों को संगीन बताते हुए 05 अप्रैल को सीबीआई जांच के निर्देश दिए थे।
कोर्ट का आर्डर आने के बाद अनिल देशमुख ने पद से इस्तीफा दे दिया था।

Header Ad

Related post

Open chat
Join Us On WhatsApp