नागपुर के होटल में मिली ट्रेजरी के जॉइंट डायरेक्टर की लाश, रहस्यमयी तरीके से हुए थे लापता  

 नागपुर के होटल में मिली ट्रेजरी के जॉइंट डायरेक्टर की लाश, रहस्यमयी तरीके से हुए थे लापता  

तोपचंद, रायपुर। राजधानी के अटल नगर स्थित मंत्रालय में पदस्थ ट्रेजरी के जॉइंट डायरेक्टर राजेश श्रीवास्तव का शव नागपुर (महाराष्ट्र) के एक होटल के कमरे में मिली है। रायपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लखन पटले ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया है कि प्रथम दृष्टया उनकी मौत हार्ट अटैक से हुई है।

Header Ad

ASP लखन पटले ने बताया कि श्रीवास्तव सोमवार रात से लापता हुए थे, राखी थाना में उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज थी। मामले में राखी थाना पुलिस जांच कर उनको तलाशने की कोशिश कर रही थी। पटले ने बताया कि नागपुर के सीताबर्डी थाना इलाके में पूजा लाज के कमरा नंबर 104 में राजेश श्रीवास्तव का शव पाया गया है।

ASP ने बताया सीताबर्डी थाना से मिली जानकारी के अनुसार  राजेश श्रीवास्तव कल सुबह 10:30 बजे महाराष्ट्र के पूजा लॉज के रूम नंबर 104 में रुके थे। डॉयरेक्टर ने चिल्लर नहीं होना बताकर 150 रुपए एडवांस में दिए थे। वो बुधवार  सुबह 9 से 10 बजे के आस-पास नाश्ता करने बाहर भी निकले थे। लेकिन उसके बाद वो रूम से बाहर नहीं आये। इस कारण लॉज का मैनेजर रूम चेक करने आया।

जब लगातार आवाज देने पर भी दरवाजा नहीं खुला, तो छत से जाकर रूम झांका, तो डायरेक्टर राजेश श्रीवास्तव सोए अवस्था में दिख रहे थे। जिसके बाद मैनेजर ने तत्काल नागपुर के सीताबर्डी थाना में सूचना दी। पुलिस टीम ने पहुँचकर दरवाजा तोड़ा तो डायरेक्टर मृत अवस्था में था। सीताबर्डी थाना पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए रवाना कर दिया है।

ASP पटले ने बताया कि रायपुर पुलिस ने उनके घर में घटना की सूचना दे दी है, उनके परिजन शव को लेने यहाँ से रवाना हो गए है, जिन्हें सीताबर्डी पुलिस राजेश श्रीवास्तव के शव को सुपुर्द कर देगी। मौत की वजह पीएम रिपोर्ट आने के बाद मालूम चलेगा। राजेश श्रीवास्तव के शव के गले में 1 सोने की चेन, 1 घड़ी और 1 रेडमी मोबाइल समेत जेब मे 3 हजार रुपए पुलिस ने बरामद किया है।

ट्रेजरी विभाग के जॉइंट डायरेक्टर राजेश श्रीवास्तव मंगलवार को अपनी पत्नी के साथ दफ्तर आये थे और फिर उनकी पत्नी कार के साथ ट्रांजिट मेस चली गई। लेकिन जब देर रात तक राजेश अपने घर नहीं पहुंचे तब परिजनों को उनकी चिंता हुई और उन्हें कॉल किया गया, लेकिन उनका फोन स्विच ऑफ आया।
परिजनों ने इसकी शिकायत राखी थाने में की, इसके बाद पुलिस ने जब मंत्रालय का सीसीटीवी फुटेज की जांच की तब उसमें 11:30 बजे राजेश श्रीवास्तव अपने दफ्तर से निकलते हुए दिखाई पड़ रहे हैं। हालाँकि अभी तक यह मालूम नहीं चल पाया है कि वे दफ्तर से किसके साथ निकले हैं। फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच में जुटी हुई है, उनके करीबियों और रिश्तेदारों से पूछताछ कर उन्हें ट्रेस किया जा रहा है। 56 वर्षीय राजेश श्रीवास्तव मूल रूप से बिलासपुर के रहने वाले हैं।

Header Ad

Shrikant Baghmare

Related post

Open chat
Join Us On WhatsApp